Thursday, August 6, 2020
अजवाइन की खेती कैसे करे

नमस्कार दोस्तों Bhartiya Kisan में आपका बहुत बहुत स्वागत है |

किसान भाइयों आज हम आपको बताएँगे कि आप अजवाइन की खेती किस प्रकार कर सकते है जिससे आपको लाभ प्राप्त हो सके |

अजवाइन की खेती कैसे करे

अजवाइन की खेती कैसे'करे

अजवायन – भूमि की तैयारी दोमट या बलुई मिट्टी अच्छी रहती है । भूमि की 4 से 5 जुताइयाँ करके भुरभुरा कर छोटी – छोटी ( 3 मीटर x 3 मीटर ) की क्यारियाँ बनायें । बुवाई ‘ लाय अच्छी तरह से तैयार खेतों में अजवायन की बुवाई का सही समय अगस्त माह है । प्रति हैक्टेयर 5 किलो बीज छिड़काव विधि या 2 . 5 – 35 किलो बीज बुवाई विधि से उपयोग में लेवें । बुवाई हेतु कतार से कतार की दूरी 30 से . मी . तथा पौधे से पौधे की दरी 15 – 20 से मी , रखें । ध्यान रखें , अधिक गहरी बुवाई नहीं करें अन्यथा अंकुरण अच्छा नहीं प्रगा । छिड़काव विधि में बीजों को क्यारियों में छिटक कर हल्की रेक चला देवें . जससे बीजों पर हल्की – सी परत मिट्टी की आ जावे । बीज पर अधिक मिट्टी आ जाने ये अंकुरण अच्छा नहीं होता है । खाद एवं उर्वरक प्रति हैक्टेयर 15 से 20 टन कम्पोस्ट अथवा गोबर की खाद देवें , तिम 104 के समय प्रति हैक्टेयर 8 किलो फोस्फेट तथा 15 किलो पोटाश भूमि में की तरह मिला देखें । खड़ी फसल में 20 किलो नाजन टॉप ड्रेस करें |

निराई – गुड़ाई खरपतवारों को न पनपने दें तथा आवश्यकतानुसार निराई – गुड़ाई करने रहें । अजवायन फसल में खरपतवार नियंत्रण करने हेतु बुवाई के तुरंत बाद 750 मि . ली . पेन्डीमिथेलीन सक्रिय तत्व प्रति हैक्टेयर के हिसाब से छिड़काव करें तथा 30 दिन बाद उगने वाले खरपतवार को अंतराशस्य द्वारा निकालें ।

फसल संरक्षण –

मोयलाः मैलाथियॉन 5 प्रतिशत का 25 किलो घोल बनाकर या डायमिथोएट 30 ई . सी . 0 . 03 प्रतिशत दवा का प्रति हैक्टेयर प्रयोग करें ।

छाछ्या रोग ( पाउडरी मिल्ड्यू ) : लक्षण दिखाई देते ही 20 किलो गंधक पाउडर प्रति हैक्टेयर भुरके या प्रदशत केराथेन 0 . 1 प्रतिशत की दर से छिड़कें तथा आवश्यकतानुसार 15 दिन बाद फिर दोहरायें ।

उखटा रोग : संभाग के कुछ – कुछ खेतों में यह बीमारी भी पाई जाती है । उपयुक्त फसल चक्र अपनाकर इस रोग से बचा जा सकता है ।

कटाई : जनवरी माह तक फसल पक जाती है । फसल पकने पर कटाई करें एवं बेलों से या गहाई स्थल पर ट्रेक्टर चलाकर कहाई करें ।

अगर आप और ज्यादा जानकारी चाहते है तो आप हमें कमेंट कर सकते है हम उस कमेंट को पढ़ेंगे और जल्द से जल्द जानकारी को आप तक पहुंचाने का प्रयास करेंगे |

Tags:

0 Comments

Leave a Comment

RECENTPOPULARTAGS