dingi talab

जय भारत भाग्य विधाता

जय जवान जय किसान

डिंगी तालाब बनाने पर सरकार कितना अनुदान दे रही है तथा इस से होने वाले लाभ

dingi talab

राज्य सरकार द्वारा कृषि की उन्नत तकनीक अपनाने व उत्पादन एवं उत्पादकता में वृद्धि कर आमदनी बढ़ाने के लिए विभिन्न योजनाएं संचालित की जा रही हैं , जिनके तहत देय सुविधाओं का विवरण निम्नानुसार है ।

जल प्रबन्धन ( व्यक्तिगत लाभार्थी कृषक योजना )

• डिग्गी निर्माणः

कृषक द्वारा न्यूनतम चार लाख लीटर एवं इससे अधिक क्षमता की पक्की डिग्गी निर्माण करने पर लागत की 50 प्रतिशत राशि ( रु . 350 प्रति घनमीटर भराव क्षमता की दर से ) तथा प्लास्टिक लाइनिंग ( कच्ची ) डिग्गी पर लागत की 50 प्रतिशत ( राशि रु . 100 प्रति घनमीटर भराव क्षमता की दर से ) अथवा अधिकतम रु . 2 लाख जो भी कम हो , अनुदान देय है ।

• फार्म पौण्ड निर्माण ( PMKSY ) :

न्यूनतम 600 घन मीटर क्षमता की खेत तलाई निर्माण पर इकाई लागत का 50 प्रतिशत अथवा अधिकतम राशि रु 62500 कच्चे फार्म पाउंड पर तथा राशि रुपए 75,000 प्लास्टिक लाइनिग के साथ (300 माइक्रोन, बी.आई.एस मापदंड जो भी कम हो अनुदान देय हैं।

•जल हौज निर्माण (PMKSY): 

न्यूनतम 100 घन मीटर क्षमता का जल हौज निर्माण करने पर इकाई लागत 50% या राशि रुपए  350 प्रति घनमीटर भराव क्षमता या अधिकतम रुपए 75000 जो भी कम हो अनुदान देय है।

• पाइप लाइन(RAKVY/NMOOP/NFSM) : 

लागत का 50% या अधिकतम राशि रुपए 50 प्रति मीटर एच.डी.पी.ई पाइप या राशि रुपए 35 प्रति मीटर पीवीसी पाइप या राशि 20 रुपए प्रति मीटर एस.डी. पी.ई. लेमीनेटेड  ले – फ्लेट ट्यूब पाइप या अधिकतम राशि रु 15000 अनुपातिक रूप से जो भी कम हो अनुदान देय हैं।किसान आवेदन ऑनलाइन भी कर सकता है तथा अधिक जानकारी के लिए अपने ग्राम सेवक या बागानी विभाक के अधिकारी से संपर्क करे ।  के लिए आवेदन प्रति वर्ष 1अप्रैल से प्रारम्भ होते है जिन किसानो ने आवेदन पिछले साल किया  है और उनका नंबर नहीं आया वो दुबारा आवेदन करे ।

नोट :- आवेदन प्रतिवर्ष करना होता है जब तक अनुदान में किसान का नाम नहीं आ जाता है।  

ऐसी ही जानकारी आप को हम भारती किसान के माध्यम से आप को देते रहे गे । आप सब किसानो को जानकारी अच्छी लगे तो और किसानो के सात साजा करे जिस से किसानो की आई में वृद्धि हो देश सक्षम हो । भारत सरकार द्वारा दिजाने वाली योजनाओं का लाभ हर किसान को मिल सके इस योजना का मुख्य उद्देश्य भूमि के जल इस्तर को बढ़ाना तथा किसान की संपूर्ण भूमि को सिंचित करना है । जिस में कच्चा तालाब पर पक्का तालाब समलित है। अन्य जानकारी चाहते हैं तो हमें कमेंट करके आपके सवाल पूछ सकते हैं। हमारी टीम जल्द ही आप के सवालों का जवाब देकर समाधान करेगी ।

जय हिन्द जय भारत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *